बिहार में शराबबंदी के बाद से जहां एक तरफ नशा करने वाले नशे की नई नई तरकीब तलाश रहे हैं तो वहीं इसका धंधा करने वाले भी नशीले पदार्थों का कारोबार बढाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं | हालांकि पटना पुलिस ने भी नशे के सौदागरों को धर-दबोचने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। फरवरी 2020 मे पटना के जक्कनपुर इलाके में पुलिस ने राधा देवी उर्फ भाभी जी को गिरफ्तार किया था। तब से लेकर अभी तक भाभी जी गैंग के गुर्गों की धर-पकड़ जारी है।

तस्करों ने किया भाभी जी गैंग का खुलासा

समाज में नशा फैलाने वाली इस भाभी की कहानी की शुरुआत सितंबर 2019 से होती है। जब पटना के जक्कनपुर थाना की पुलिस ने 300 ग्राम ब्राउन सुगर के साथ पांच तस्कर को गिरफ्तार किया था। पकड़े गये लोगों ने बताया कि वे सभी भाभी जी गैंग के लिए काम करते हैं। इसके बाद पुलिस ने पटना की नशे की सौदागर भाभी जी को पकड़ने के लिए जाल बिछाना शुरू किया। पुलिस को कामयाबी भी मिली।

फरवरी में पुलिस ने भाभी जी को किया गिरफ्तार

पटना में नशीले पदार्थों की खेप से परेशान पटना पुलिस ने आखिरकार मास्टर माइंड गैंग की सरगना ‘भाभीजी’ उर्फ राधा देवी को उसके गुर्गे प्रेमशंकर राम को जक्कनपुर थाने की पुलिस ने चार करोड़ के ब्राउन शुगर के साथ गिरफ्तार किया। फिलहाल भाभीजी, उसका पति गुड्डू और ब्राउन शुगर का तस्कर अभिमन्यु जेल में हैं। बताया जाता है कि भाभीजी का ड्राइवर ब्राउन शुगर की खरीद-बिक्री को लेकर सारी डीलिंग किया करता था। इस गैंग के निशाने पर स्कूल-कॉलेजों छात्र-छात्रा रहते थे। गिरोह के सदस्य स्कूल-कॉलेज के बाहर ही घूमते रहते थे और युवाओं और छात्रों को अपनी जाल में फंसा कर उनमें नशे की लत लगा देते थे।

भाभी जी के गैंग के पुलिस के पास कई किस्से

पुलिस के पास भाभीजी के गैंग की कई घटनाएँ हैं | पिछले 2 सालों मे पुलिस द्वारा पकड़े गये कई तस्करों का सम्बन्ध किसी न किसी तरह भाभीजी गैंग से था | आख़िरकार पुलिस ने इस गैंग की सरगना को पकड़ कर तस्करी की बहुत बड़ी चेन को तोड़ने मे सफलता पाई है |