CBSC Result 2019

सीबीएसई 10वीं के नतीजों का ऐलान कर दिया है। इस बार 12वीं के नतीजों का ऐलान भी मई के पहले सप्ताह में ही किया जा चुका है। बता दें कि इससे पहले रविवार को भी सीबीएसई 10वीं का रिजल्ट आने की अटकलें थीं। बाद में सीबीएसई की पीआरओ रमा शर्मा ने ऐसी सारी अटकलों को अफवाह करार दिया था।

इस साल कुल 18 लाख छात्रों ने 10वीं (cbse 10th result) की परीक्षा में शामिल हुए जिनमें 91.1 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। त्रिवेंद्रम में में सबसे ज्यादा 99.85 छात्र उत्तीर्ण हुए। पिछले पांच साल से सीबीएसई का रिजल्ट लगातार गिरता रहा है। 2014 में 98.87 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए 2015 में 97.53 प्रतिशत, और 2016 में 96.21 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए। 2017 में 93.06 प्रतिशत पास हुए तो 2018 में पिछले साल के मुकाबले रिजल्ट में 7 प्रतिशत की गिरावट आई और पास बच्चों का प्रतिशत 86 पर आ गया। इस साल पिछले 5 साल से गिरते रिजल्ट पर ब्रेक लगी है।

10वीं का रिजल्ट सोमवार दोपहर करीब सवा दोे बजे ही घोषित कर दिया गया। छात्र और छात्राएं अपना रिजल्ट cbse की आधिकारिक वेबसाइट cbseresults.nic.in और cbse.nic.in पर देख सकते हैं।

CBSE 10th Result इन वेबसाइट्स पर भी देखें जा सकते है
examresults.in
indiaresults.com
results.gov.in

CBSC 10th Result 2019

कैसे चेक करें अपना रिजल्ट
Step
1- सीबीएसई की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in या cbseresults.nic.in पर जाएं
Step 2- वेबसाइट पर दिए गए Result लिंक पर क्लिक करें
Step प 3- अपना रोल नंबर दर्ज कर सबमिट करे
Step 4- रिजल्ट स्क्रीन पर दिखने लगेगा

13 स्टूडेंट्स ने एकसाथ किया टॉप

ऐसा पहली बार हुआ है जब एक साथ 13 स्टूेडंट्स ने CBSE बोर्ड 10वीं में टॉप किया है। टॉपर्स के 500 में से 499 नंबर आए हैं।

List Of Toppers 2019

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी के आए 82% नंबर

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी के 82% नंबर आए हैं। इस बार 10वीं रिजल्ट (CBSE Class 10 Result) में सीबीएसई कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करने जा रहा है।

पटना के प्रियांशु राज बिहार टॉपर

पटना के प्रियांशु राज बिहार टॉपर घोषित किए गए हैं। उन्हें कुल 99 प्रतिशत अंक मिले हैं। वे डीएवी बोर्ड कॉलनी के छात्र हैं। बिहार टॉपर प्रियांशु आगे चलकर एस्ट्रोनॉमर बनना चाहते हैं। अंतरिक्ष को नजदीक से जानना चाहते हैं। बेटे प्रियांशु की इस सफलता पर पिता सहित पूरे परिजन खुश हैं। प्रियांशु ने कहा कि वे स्कूल के अलावा प्रतिदिन घर पर भी 5 से 6 घंटे की पढ़ाई करते थे।