Blast

जब से लोकसभा चुनाव शुरू हुआ तब से कई जगहों पर नक्सलियों ने बम ब्लास्ट कर लोगों को डराने की कोशिश की है| नक्सल इलाकों में वोटिंग करवाना चुनाव आयोग के लिए चुनौती बन गयी है|अभी कुछ दिनों पहले ही बीजेपी के MLA को नक्सलियों ने अपना निशाना बनाया था जिसमे उनकी जान चली गयी थी|अभी ताज़ा जानकारी के मुताबिक झारखंड के पलामू में नक्सलियों ने बीजेपी कार्यालय को बम ब्लास्ट कर उड़ा दिया है। बता दें कि ये घटना गुरूवार की रात साढे 12 बजे की है। घटना स्थल पर नक्‍सलियों ने एक पर्चा भी छोड़ा है। नक्सलियों ने इस पर्च में कई बातों का विरोध करते हुए वोट बहिष्कार करने की धमकी दी है। इस चिठ्ठी में विजय माल्या, नीरव मोदी, नोटबंदी और राफेल डील समेत कई मुद्दों का जिक्र किया गया है।

खबरों के मुताबिक, नक्सलियों की ओर से छोड़ी गई इस चिट्ठी में चुनावों को लेकर गुस्सा जाहिर किया गया है। इस चिट्ठी में लिखा है कि जब चुनाव आते हैं तभी नेताओं को जनता का दुख-दर्द, भुखमरी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, गरीबी और कुपोषण की बात करते है। इस चिट्ठी में राफेल सौदा घोटाला, विजय माल्या, नीरव मोदी और नोटबंदी का भी जिक्र किया है।

नक्सलियों की ओर से छोड़ी गई इस चिट्ठी में चुनावों के प्रति आक्रोश व्यक्त किया गया है| इस चिट्ठी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना मेंढक से की है|

letter

इतना ही नहीं नक्सलियों द्वारा छोड़ी गयी चिठ्ठी में बिहार की नीतीश सरकार और झारखंड के रघुवर दास की सरकार पर सवाल उठाए हैं। इस चिट्ठी में मुजफ्फरपुर बालिका गृह जिक्र करते हुए कहा गया है कि बालिकाओं से सेक्स रैकेट का धंधा चलाया जा रहा था। सुशासन सरकार में शामिल रहे मंत्रियों द्वारा धंधा जारी है। ऐसे कुकर्मों पर नीतीश सरकार को शर्म आनी चाहिए। वहीं झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास का जिक्र करते हुए इस चिट्ठी में लिखा है कि सरकार ने वनवासियों, आदिवासियों को जंगली-पहाड़ी क्षेत्रों से विस्थापित कर प्राकृतिक संसाधनों और खनिज संपदाओं को लूटने के लिए कॉरपोरेट को सौंप दिया है।

इस घटना के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम को दी। बीजेपी का यह कार्यालय थाने से कुछ ही दूरी पर था| नक्सलियों ने जनता से अपील भी की है कि 17वीं लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करें| जनता की नई जनवादी सत्ता स्थापित करें| यह घटना पलामू जिले के हरिहरगंज बाजार की है| बता दें हरिहरगंज इलाका नक्सल प्रभावित इलाकों में आता है। पलामू में चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होना है।