बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से पूरा देश गमगीन है | हो भी क्यों न, उनके जैसे अभिनेता आज बॉलीवुड मे कम ही हैं | इंजीनियरिंग से लेकर बॉलीवुड तक का उनका सफर अपने आप मे प्रेरणा देने वाला है | अपने छोटे से फ़िल्मी करियर मे उन्होंने काफी विविधता भरे रोल किये | कभी वे धोनी के रूप मे विरोधी टीमों के छक्के छुडाते दिखे तो कभी व्योमकेश बख्शी के रूप मे जासूसी करते नजर आये, सोनचिरिया जैसी सीरियस मूवी मे भी उनका अभिनय सराहनीय रहा, उनकी पिछली फिल्म छिछोरे को भी दर्शकों ने खासा पसंद किया था | 

अब उनकी मौत के बाद जहां एक तरफ कई लोग गमगीन हैं तो वहीं तरफ कई लोगों के अंदर बॉलीवुड के ख़ास वर्ग को लेकर नफरत का भाव पनप रहा है | खासतौर से उनके गृह नगर पटना में लोग उनकी मौत की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। सुशांत बिहार के पटना से ही थे। 

सड़कों पर उतरे लोग 

पटना में सैकड़ों लोग मंगलवार को इस मांग को लेकर सड़क पर उतर आए। आयकर गोलंबर पर सैकड़ों युवाओं ने बॉलीवुड और प्रोड्यूसर करण जौहर का पुतला फूंक आक्रोश व्यक्त किया। युवाओं का नेतृत्व कर रहे मनीष कुमार सिंह ने कहा कि सुशांत सिंह राजपूत के मौत के पीछे बॉलीवुड में चल रही गुटबाजी जिम्मेदार है। आक्रोश मार्च में युवाओं ने जमकर बॉलीवुड में बढ़ रही भाई-भतीजावाद, गुटबाजी, नए अभिनेता के साथ दुर्व्यवहार को लेकर करण जौहर, सलमान खान आदि के खिलाफ नारेबाजी कर पुतला दहन किया। 

युवाओं ने सरकार से इस मामले को सीबीआई जांच कराने की मांग रखी। अनिकेत झा ने बताया कि बॉलीवुड कभी अपने फिल्मों में हिन्दू विरोधी दृश्य दिखाते हैं। कभी देशद्रोहियों के समर्थन में खड़े नज़र आते हैं। नए अभिनेता के साथ दुर्व्यवहार करते है। इन सभी कृत्य को बॉलीवुड समाप्त करे वरना बॉलीवुड के खिलाफ बिहार से ये युवाओं का आंदोलन पूरे देश में चलेगा। शशि शेखर ने कहा कि हम युवाओ का मांग है कि इस घटना की जांच होनी बहुत जरूरी है। इस मौके पर राहुल यादव, डॉक्टर संजय सिंह, राहुल रंजन, रोहित शर्मा, अनंत राठौर, संजीव प्रताप सिंह आक्रोश मार्च में शामिल हुए।