लोकसभा चुनाव में अगर एक दिन भी नेता कुछ ना बोले ऐसा हो नही सकता है चाहे वो सत्ताधारी हो या विपक्ष रोज़ कुछ न कुछ सुनने को मिल ही जाता है| बिहार के मुखिया यानी श्री नीतीश कुमार, पहले तो कुछ दिन लोकसभा चुनाव में नज़र नही आते थे मानों ऐसा लग रहा था जैसे देश में चुनाव हो ही नहीं रहा है| फिर अचानक से आकर लगातार सभाएं किए जा रहे हैं| अब अगर सभाएं की बात करें तो,लखीसराय के हलसी प्रखंड मुख्यालय स्थित खेतिहर मैदान में आयोजित चुनावी सभा संबोधित करते हुए सीएम नीतीश कुमार ने महिलाओं से अपील की कि घर के मर्द से मनमाफिक वोट कराएं। जिस घर के मर्द मनमाफिक वोट नहीं करेंगे, उन्हें पूरा दिन उपवास में रखें जबकि मनमाफिक मतदान करने वाले मर्दों को भरपेट लजीज खाना खिलाएं। सभी लोग पहले मतदान करें फिर जलपान करें।

नीतीश कुमार के इस भाषण से सामने बैठे सारे लोग चाहें वो औरतों हो या मर्द दोनों ठहाका मारे के हसने लगे| शायद नितीश बाबू को एक कहावत नहीं पता है मियाँ बीवी का झगडा पंचायत भेल ……” ख़ैर नीतीश कुमार की इस कोशिश से शायद कुछ वोट NDA के खाते में आ जाए|

साथ ही सीएम ने सभा को संबोधित करने के दौरान अपनी उपलब्धियों को एक एक कर गिनाया। बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, हर घर नल का जल, हर घर शुद्ध पेयजल, महिला आरक्षण, एससी एसटी एवं ईबीसी को पंचायत चुनाव एवं नौकरी में मिलने वाले आरक्षण को गिनाया एवं आगे भी जनता के लिए काम करने का भरोसा दिलाते हुए एनडीए समर्थित जद यू प्रत्याशी राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के पक्ष में वोट करने की अपील जनता से की।

सीएम ने पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीबों के लिए किए गए कार्यों को गिनाते हुए कहा कि सरकार ने गरीबों के लिए उज्जवला योजना, किसान के किसान सम्मान निधि योजना आदि की चर्चा की।सभा को सूबे के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा, लोकसभा प्रत्याशी राजीव रंजन सिंह ने भी संबोधित किया। जदयू नेता सह पूर्व शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी, महनार विधायक उमेश कुशवाहा, जदयू नेता मोहन ठाकुर मौजूद थे। अध्यक्षता जद यू जिलाध्यक्ष रामानंद मंडल ने की, संचालन प्रखंड अध्यक्ष राजीव कुमार उर्फ मुन्नी ने किया।

बीच सभा में नीतीश बाबू क्यूँ भड़के

सभा को लोजपा जिलाध्यक्ष चंद्रदेव पासवान, भाजपा जिलाध्यक्ष देवानंद साहू सहित अन्य ने भी संबोधित किया। वहीं दूसरी ओर सभा के दौरान भीड़ से वित्त रहित शिक्षा नीति समाप्त करने का बैनर दिखा रहे लोगों पर सीएम नीतीश कुमार भड़क गए। सीएम ने बैनर दिखाने की घटना को विरोधियों की साजिश कहा। उन्होंने कहा कि चुनाव के समय में वित्त रहित शिक्षा नीति समाप्त करो का बैनर दिखाने का क्या औचित्य है। विरोधियों ने सिखाकर भेजा है और आप चुनाव के समय में मुझे सुनने के बजाय बैनर लगाकर आ गए हैं। कांग्रेस के नेता आएंगे उन्हें वित्त रहित शिक्षा नीति बताइएगा, ये उन्ही की देन है। मेरे समय का मामला नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे बैनर से उन्हें कोई अंतर नहीं पड़ता है।

सूर्यगढ़ा में सीएम की सभा कल

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर एनडीए उम्मीदवार राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह के पक्ष में सीएम नीतीश कुमार के द्वारा चुनावी सभा करने के कार्यक्रम को लेकर तैयारी शुरू कर दी हे। प्रखंड मुख्यालय के प्लस टू पब्लिक हाई स्कूल के मैदान में सीएम की चुनावी सभा को संबोधन करने के लिए राजग कार्यकर्ताओं के द्वारा तैयारी शुरू कर दी गई है।