गूगल पर भिखारी सर्च करने पर पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से जुड़ी सामग्री सामने आ रही है। इसको लेकर इमरान खान इस कदर आग बबूला हैं कि उन्‍होंने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को नोटिस भेज दिया है।

  • पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की विधानसभा ने इसे लेकर गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को समन भेजने का प्रस्ताव पेश किया है
  • इसी तरह से गूगल पर इडियट सर्च करने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फोटो आती थी
  • अमेरिकी संसदीय समिति के सामने पेश हुए पिचाई ने इसके पीछे एल्गोरिदम को वजह बताया था


गूगल इन दिनों राजनेताओं की तस्वीर के कारण सुर्खियों में है। कुछ वक्‍त पहले गूगल पर इडियट सर्च करने पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप से जुड़ी खबरें और उनकी इमेज सामने आ रही थी।यह मामला सुलझा नहीं कि वहीं अब गूगल पर भिखारी सर्च करने पर पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से जुड़ी सामग्री सामने आ रही है। इसको लेकर इमरान खान इस कदर आग बबूला हैं कि उन्‍होंने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को नोटिस भेज दिया है।

sundar pichai

इसको लेकर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की विधानसभा में एक प्रस्ताव पेश किया गया जिसमें गूगल के सीईओ को समन भेजने और उनसे इस बात की जानकारी देने को कहा गया है कि सर्च इंजन पर ‘भिखारी’ शब्द सर्च करने पर इमरान खान की तस्वीर सामने क्यों आती है? पाकिस्तान की एक पत्रकार ने इमरान खान और इस प्रस्ताव की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की है।
Resolution submitted in Punjab assembly to summon Google CEO
लेकिन यह सवाल तो हर किसी के जहन में आना स्‍वाभाविक ही है कि आखिर ऐसा क्‍यों हो रहा है। इसके लिए हमें गूगल किस तरह से सर्च करता है उसको समझना होगा।इससे पहले हम आपको ये भी बता दें कि जब इडियट सर्च करने पर ट्रंप से जुड़ी सामग्री सामने आ रही थी तब अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने गूगल के सीईओ को तलब कर इसपर जवाब मांगा था। उस वक्‍त पिचाई ने इसका राज खोला था। उनके मुताबिक ऐसा तकनीकी आधार पर होता है। इसके जरिए गूगल किसी की छवि को धूमिल करने की कोशिश नहीं करता है और न ही इसमें कोई मानवीय हस्‍तक्षेप ही होता है। दरअसल, गूगल सर्च में जब कोई यूजर कीवर्ड डालता है तो वो एल्‍गोरिथम के आधार पर उस वेबपेज और फोटो को खोजता है।
आपको बता दें कि गूगल सर्च इंजन को इस तरह बनाया गया है कि जब किसी शब्‍द को बार-बार ढूंढा जाता है, तब सर्च इंजन उस कीवर्ड को लोकप्रिय की श्रेणी में शामिल कर लेता है। गौरतलब है कि गूगल इमेज सर्च में इडियट टाइप करने पर सबसे ऊपर ट्रंप की जो तस्वीर दिखती है, वह बेबीस्पिटल ब्लॉग साइट की है। इस पर डोनाल्ड ट्रंप को बार-बार इडियट कहा गया है। इस ब्लॉग साइट ने डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ कई लेख लिखे।

Imran Khan
उसी तरह कुछ समय पहले पाकिस्तान के ही एक सरकारी टीवी चैनल पीटीवी ने ‘बेगिंग’ विवाद पर माफी मांगी थी। दरअसल, इमरान खान के भाषण के लाइव प्रसारण के दौरान स्क्रीन पर ‘बीजिंग’ की जगह ‘बेगिंग’ (भीख मांगना) लिखा था। यह गलती करीब 20 सेकंड तक बनी रही, जिसे बाद में हटा लिया गया था।