सीएम हाउस और राजभवन से 100 गुना बेहतर साज-सज्जा वाले सरकारी आवास को आख़िरकार कोर्ट के आदेश के बाद तेजस्वी यादव ने किया खाली

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बंगले में प्रवेश किया तो शानोशौकत देखकर भौंचक्के हो गए

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने मंगलवार को उस बंगले में प्रवेश किया जो पहले तेजस्वी यादव के नाम से आवंटित था| सुशील मोदी ने बंगले की साज-सज्जा को देखकर उसे फाइवस्टार होटल से भी बेहतर माना| हालांकि सुशील मोदी ने सफाई दी कि वे इस बंगले में नहीं रहेंगे क्योंकि नींद उन्हें अभी भी अपने पटना के राजेंद्र नगर में स्थित पैतृक घर में ही आती है| उन्होंने माना कि इस बंगले को देखकर वे दंग रह गए|

पटना के 5 देशरत्न मार्ग स्थित बंगला।

सुशील मोदी का इस बंगले में प्रवेश सर्वोच्च न्यायालय के उस फैसले के बाद हुआ है जिसमें तेजस्वी यादव की इस बंगले को विपक्ष के नेता के रूप में आवंटित करने की याचिका खारिज की| तेजस्वी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है|

सुशील मोदी का कहना है कि प्रधानमंत्री आवास तो इस बंगले की साज सज्जा के सामने बौना है और मुख्यमंत्री आवास तो इसके मुकाबले कुछ भी नहीं लगता| बिहार का राजभवन और मुख्यमंत्री आवास से 100 गुना बेहतर डेकोरेशन किया गया है। सारी सुविधाएं फाइव स्टार होटल को मात करने वाली हैं। महंगे पलंग, सोफा, कुर्सियों की कौन कहे, बाथरूम की व्यवस्था देखकर ही आप दंग रह जाएंगे। सारे कमरों में अद्‌भुत साज-सज्जा की गई है। यह किसी राजमहल जैसा लग रहा है। बंगले की व्यवस्था देखकर अहसास हो रहा है कि तेजस्वी यादव क्यों नहीं इसे छोड़ रहे थे। ऐसा अद्‌भुत बंगला कोई भी नहीं छोड़ना चाहेगा। इसमें रहने के बाद वे इन सुविधाओं को कैसे छोड़ सकते थे?

Tejasvi Yadav lived in luxurious bungalow

आधुनिक सुविधाएं और महंगी सामग्री

मोदी ने मंगलवार की शाम चार बजे इस बंगले में प्रवेश किया। बाहर के कमरे में पहुंचते ही वहां की सजावट देखकर वे हतप्रभ हो गए। जैसे-जैसे अन्य कमरों में गए, उनकी आंखें फटी रह गईं। पहले तल्ले पर बने बेडरूम, किचन, ड्राइंग रूम, बाथरूम को देखकर दंग रह गए। उन्होंने कहा- ऐसी व्यवस्था, आधुनिक सुविधाएं और महंगी सामग्री की कल्पना नहीं की थी। हर चीज पर भारी भरकम राशि खर्च की गई है।

luxurious bed in tejashwi bungalow

चार-पांच करोड़ हुए होंगे खर्च

मोदी ने कहा कि वे मुख्यमंत्री से आग्रह करेंगे कि वे ही इस आवास में रहें। यह बंगला उनके लिए हाथी के समान है और इसका रखरखाव भी उनके लिए मुश्किल होगा। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव इस बंगले के साज-सज्जे पर पर कम से कम पांच करोड़ रुपये खर्च किये होंगे। मकराना के संगमरमर, इटालियन टाइल्स, बाथरूम में अत्याधुनिक झरने, कीमती फर्नीचर, स्वचालित आरामदायक सोफे, और बिलियर्ड रूम है इस बंगले में।

tejasvi-yadav-lived-in-luxurious-bungalow

मोदी ने कहा कि उन्हें जानकारी दी गई है कि पीछे अस्तबल और अन्य निर्माण हैं, जहां लालू प्रसाद-राबड़ी देवी के सुरक्षाकर्मियों के अलावा अन्य लोग रहते थे। उसका निर्माण भी अद्‌भुत है। पहला तल्ला पर महंगा उडेन फ्लोर बनाया गया है।

आवासीय दफ्तर में 11 और कमरों में 25 एसी

बंगले के बाथरूम तक में एसी लगा हुआ है। पूरे बंगले में 46 ऐसी लगे हैं। 25 एसी सिर्फ कमरों में लगे हैं। 11 एसी उनके आवासीय दफ्तर में लगे हैं। हर कमरे में महंगे सोफे, कुर्सियां और टेबल हैं। टेबल के ड्रावर तक में गद्दे लगे हैं। बाथरूम में सेंसर सिस्टम काम करता है। छोटे-छोटे रूम में सिर्फ वार्डरोब बना हुआ है। ऐसे आधे दर्जन कमरे हैं। बिलिय‌र्ड्स के लिए विशेष कमरा है। पहले तल्ले पर एक छोटा रूम भी है, जहां कुछ लोगों के बैठने की शानदार व्यवस्था है।

बंगले में बिलिय‌र्ड्स रूम भी है

हर कमरे में कुछ न कुछ नया, फर्श पर महंगे टाइल्स

बेडरूम में सेंट्रलाइज एसी की भी व्यवस्था की गई है। शीशे के सो-केश वाले बाथरूम में अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। फर्श पर महंगे टाइल्स हैं और हर कमरे में कुछ न कुछ नया है। बाहर मुख्य भवन से दूर बैठने के लिए शानदार चबूतरा बना हुआ है। हर कमरे की बगल में बैठने के लिए कमरा है। इन्हें बड़े होटल के सूइट जैसा बनाया गया है। महंगे सोफा और बड़े स्क्रीन वाले टीवी लगे हैं। काॅन्फ्रेंस रूम में चार दर्जन सोफा और गद्दे वाली 100 से अधिक आधुनिक कुर्सियां हैं। मॉड्यूलर किचन में महंगे फ्रीज हैं।

आवास छोड़ने पर किसी सामान को कोई क्षति नहीं पहुंचाई गई है, जोकि बहुत अच्छी बात है। वरना उ. पी. के पूर्व मुख्यमंत्री आवास का हाल सबको पता है| आवास देखने पर वह अपने मूल स्वरूप में ही दिखता है। तेजस्वी दीवारों पर लगी लालू-राबड़ी की सिर्फ तस्वीर लेते गए हैं। हर चीज सलीके से रखी हुई है।